क्या भारत विभाजन को रोक जा सकता है?

  1.क्या भारत विभाजन को रोक जा सकता है?

उत्तर-1947 को भारत को खंडित आजादी मिली थी,आजादी के साथ ही भारत का विभाजन भी हो गया तथा एक ब्रिटिश उपनिवेश को भारत और पाकिस्तान के रूप में दो देशो में बाँट दिया गया ,

स्वतंत्रता के बाद यह चर्चा का विषय बना रहा की क्या इस विभाजन को रोक जा था किन्तु तात्कालिक कारकों की विवेचना से यह लगता है की विभाजन अवश्यम्भावी था

(i) अंग्रेज की नीति थी फुट डालो, शासन करो,इसके आधार पर उन्होंने सबसे पहले हिन्दू-मुस्लिम एकता में प्रहार किया

(ii);हिन्दू-मुस्लिम की दालों की नेताओं की राजनीतिक महत्वकांक्षाओं ने भी विभाजन को अनिवार्य बना दिया

(iii) लार्ड माउंटबेटन ने स्वतंत्रता को विभाजन के उस पर खड़ा का दिया

(iv) अंततः कांग्रेस विभाजन  के लिए तैयार हो गया

Leave a Comment